समाचार
“जिसने बिगाड़ा, वो ही बनाए”- न्यायाधीश, हम्पी उपद्रवियों पर 70,000 रुपये का जुर्माना

शरारती तत्व जिन्हें कुछ दिनों पूर्व एक वीडियो में हम्पी के विष्णु मंदिर के स्तंभ से तोड़-फोड़ करते देखा गया था, उन्हीं को इस संरचना को इसके मूल स्वरूप में लाने के लिए कहा गया है, इंडियन एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया।

होसपेट के एक जेएमएफसी न्यायालय द्वारा प्रति व्यक्ति 70,000 रुपये का जुर्मान भी लगाया गया है। इन उपद्रवियों को न्यायाधीश ने तब ही छोड़ा जब उन्होंने टन भर वजनी इस स्तंभ को फिर से खड़ा कर दिया। आरोपियों को 8 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था व प्राचीन स्मारक व पुरात्तव स्थल अधिनियम, 1958 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

अतिरिक्त सरकारी अधिवक्ता गीता मिराजकर ने बताया कि चार आरोपियों- आयुष, राजा बाबू चौधरी, राज आर्यन और राजेश कुमार चौधरी- को हम्पी स्थल पर ले जाया गया और भारतीय पुरात्तव सर्वेक्षण के अधिकारियों के समक्ष उनसे स्तंभ ख़ा करवाया गया। इसके बाद शनिवार (16 फरवरी) को उन्हें छोड़ दिया गया।