समाचार
“2019-20 में 67 लाख को ₹2204 करोड़ की छात्रवृत्ति मिली”- अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने सोमवार (21 सितंबर) को राज्यसभा में एक लिखित उत्तर में कहा, “67,96,630 लाभार्थियों पर 2019-20 के दौरान छात्रवृत्ति योजनाओं को लेकर अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा 2204.44 करोड़ रुपये खर्च किए गए।”

छात्रवृत्ति की राशि सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) मोड के तहत हस्तांतरित की गई थी।

मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, “राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन ने छात्रवृत्ति के भुगतान को प्रभावित नहीं किया क्योंकि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की पूर्वोक्त छात्रवृत्ति योजनाएँ राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) या ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से लागू की जाती हैं।”

2019-20 के लिए तीन छात्रवृत्ति योजनाओं प्री-मैट्रिक, पोस्ट- मैट्रिक, मेरिट-कम-मेंस और बेगम हजरत महल राष्ट्रीय छात्रवृत्ति योजना के तहत छात्रवृत्ति का वितरण 2020-21 में भी जारी रहेगा।

राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन ने छात्रवृत्ति के भुगतान को प्रभावित नहीं किया क्योंकि इस मंत्रालय की उपरोक्त छात्रवृत्ति योजनाएँ राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (एनएसपी) के माध्यम से लागू की जाती हैं। छात्रवृत्ति की राशि सीधे लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) मोड के तहत लाभार्थी के बैंक खाते में स्थानांतरित की जाती है।