समाचार
“ईसाई युवतियाँ लव जिहाद के निशाने पर”- कुरियन की गृह मंत्री से एनआईए जाँच की मांग

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग (एनसीएम) के उपाध्यक्ष जॉर्ज कुरियन ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखकर जानकारी दी कि केरल में ईसाई युवतियों को बहुत तेजी से ‘लव जिहाद’ का निशाना बनाया जा रहा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, कुरियन ने एक बयान जारी कर कहा, “बड़ी संख्या में संगठित धार्मिक समूह आसानी से युवतियों को लव जिहाद का झाँसा देकर उन्हें आतंकी गतिविधियों में शामिल कर लेते हैं। इससे यह बात पुख्ता होती है कि ईसाई समुदाय इस्लामिक कट्टरपंथियों के लिए एक आसान लक्ष्य है।”

उन्होंने कथित तौर पर गृह मंत्री अमित शाह से निवेदन किया, “इस मामले पर ध्यान दिया जाए और राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) द्वारा इसकी जाँच करवाने का आदेश दिया जाए। दो ईसाई परिवारों द्वारा प्राप्त हुए पत्र के बाद इन कट्टरपंथी तत्वों की धोखाधड़ी पर लगाम लगाने के लिए एक प्रभावी कानून के भी लाए जाने की जरूरत है।”

केरल कैथोलिक बिशप सम्मेलन के सामाजिक सद्भाव और सतर्कता आयोग ने इस तरह के मामलों को बाकायदा दस्तावेजों के साथ प्रदर्शित किया। इसमें कहा गया था, “प्यार के झांसे में फंसाकर 2005 से 2012 तक करीब 4000 ईसाई युवतियों का धर्म परिवर्तन करवाया गया।”

कुरियन ने कहा, “पहले हुए इस तरह के मामलों के अनुभवों को देखते हुए माता-पिता द्वारा व्यक्त की गईं आशंकाएँ गलत नहीं हैं। रिपोर्ट्स से जानकारी मिलती है कि केरल से आईएसआईएस में शामिल होने वाले 21 लोगों में से पाँच ईसाई धर्म से धर्मांतरित हुए थे।” उन्होंने इस मामले में एनआईए जाँच की मांग को तवज्जो देने का अनुरोध किया है।