समाचार
भाजपा में सम्मिलित हो रहे मेट्रो मैन ई श्रीधरन बोले, “पार्टी कहेगी तो केरल चुनाव लड़ूँगा”

भाजपा में 21 फरवरी को शामिल होकर राजनीति का हिस्सा बनने जा रहे मेट्रोमैन ई श्रीधरन ने कहा, “मेरा लक्ष्य पार्टी को सत्ता में लाने में मदद करना होगा। अगर पार्टी जीतती है और मुझे मुख्यमंत्री की ज़िम्मेदारी सौंपी जाती है तो मेरा लक्ष्य बड़े स्तर पर इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास करना और राज्य को ऋण मुक्त करना होगा।”

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्मानित ई श्रीधरन ने कहा, “अगर भाजपा चाहेगी तो मैं केरल के विधानसभा चुनाव में उतरूँगा। अगर आदेश हुआ तो मैं मुख्यमंत्री पद पर सेवा देने के लिए भी तत्पर रहूँगा।”

राज्यपाल बनने के प्रश्न पर उन्होंने कहा, “ऐसी मेरी कोई इच्छा नहीं है। यह पूरी तरह से संवैधानिक पद है। इसके पास कोई शक्ति नहीं है। ऐसे में मैं राज्यपाल बनकर केरल के लिए कोई योगदान नहीं दे पाऊँगा।” बता दें कि केरल में अप्रैल या मई में विधानसभा चुनाव हो सकते हैं।

ई श्रीधरन ने आरोप लगाया कि वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) सरकार जनता को विकास कार्यों से वंचित रख रही है। वे जनता को बेहतर प्रशासन उपलब्ध नहीं करवा सके हैं। अगर यहाँ भाजपा की सरकार बनती है तो चार प्रमुख क्षेत्र हैं, जिन पर काम करना होगा।”