समाचार
“देश के तिरंगे से संबंध जम्मू-कश्मीर ध्वज के कारण, 370 आने तक नहीं उठाऊँगी”- मुफ़्ती

14 महीने की हिरासत पूरी करने के बाद पहली बार सामने आईं महबूबा मुफ्ती ने भाजपा के लिए जमकर ज़हर उगला। उन्होंने कहा, “भाजपा ने जिस तरह पिछले वर्ष जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया है, वह हमारे लोगों के साथ डकैती से कम नहीं है। उनका यह कदम गैरकानूनी और असंवैधानिक था।”

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, महबूबा मुफ्ती ने कहा, “भारत जम्मू-कश्मीर की भूमि चाहता है, न कि उसके लोग। मैं अनुच्छेद 370 फिर से लागू होने तक कोई झंडा नहीं उठाऊँगी। देश के तिरंगे के साथ हमारा संबंध जम्मू-कश्मीर के ध्वज की वजह से है। हमारा ध्वज जब हमारे साथ में आएगा, तब हम उस झंडे को भी उठाएँगे।”

उन्होंने अनुच्छेद 370 की पुनः बहाली का दावा करते हुए कहा, “जिन्होंने हमारा अधिकार छीना है, उसे उन्हें लौटाना होगा। मैं जम्मू-कश्मीर की आवाम को इसका यकीन दिलाती हूँ। जब तक हमें हमारा संविधान और झंडा नहीं लौटाया जाएगा, हम किसी भी चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगे। कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए हजारों लोगों ने अपनी जान दी है। अब बारी राजनेताओं की है।”

बिहार चुनाव रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अनुच्छेद 370 का मुद्दा उठाने पर वह बोलीं, “वोट हासिल करने के लिए उनके पास दिखाने को कुछ नहीं है। वहाँ के लोगों को कह रहे हैं कि हमने अनुच्छेद 370 रद्द कर दिया, अब आप जम्मू-कश्मीर में ज़मीन खरीद सकते हैं। केंद्र गरीबी उन्मूलन, बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था और विकास से जुड़े मुद्दों पर नाकाम साबित हुई है। उनके पास दिखाने के लिए कुछ नहीं है।

महबूबा ने आखिरी में कहा कि भाजपा के साथ गठबंधन करना हमारी सबसे बड़ी भूल थी।