समाचार
पाकिस्तान के घोटकी में हिंदुओं पर अत्याचार के बीच हिंदू मेडिकल छात्रा मिली मृत

पाकिस्तान के सिंध स्थित घोटकी की मूल निवासी मेडिकल छात्रा अपने लरकाना स्थित छात्रावास में मृत पाई गई है। घोटकी वही स्थान है जहाँ हिंदुओं पर हमले और मंदिरों को तोड़ने की खबरें पिछले कुछ दिनों में आई है।

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून  की रिपोर्ट के अनुसार, लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज के अंतिम वर्ष की छात्रा नम्रता चंदानी अपने छात्रावास के कमरे में मृत पाई गई। उसके गले में रस्सी बंधी थी और कमरा अंदर से बंद था।

पुलिस का कहना है, “मामले में हत्या या आत्महत्या कहना जल्दबाजी होगी।” नम्रता के माता-पिता कराची में रहते हैं। लरकाना डीआईजी इरफान अली बलूच ने घटना की जाँच एसएसपी को सौंपी है। कुलपति डॉक्टर अनिला अताउर रहमान ने कहा, “मौत के वास्तविक कारण का पता लगाया जा रहा है।”

उधर, पाकिस्तान में सिंध के घोटकी में सिंध पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य पर छात्र अब्दुल अजीज़ राजपूत के पिता ने इस्लाम के संस्थापक मोहम्मद के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी का आरोप लगाया है। इसके बाद वहाँ दंगा भड़क गया। सोशल मीडिया पर हिंदुओं पर अत्याचार के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं।

विश्व सिंधी कांग्रेस ने यह कहते हुए ट्वीट किया, “घोटकी में हिंदू समुदाय पर हमले हो रहे और प्रधानाचार्य के स्कूल, हिंदू मंदिरों, दुकानों और घरों पर भीड़ ने तोड़फोड़ की।” एक वीडियो में भीड़ को अल्लाह-ओ-अकबर कहते हुए स्कूल पर हमला करते हुए देखा जा सकता है।

रिपोर्ट के अनुसार, कट्टरपंथी इस्लामवादी नेता मियां मिठू भीड़ को उकसा रहा है। इस्लामी धर्मगुरु मियां हिंदू लड़कियों के अपहरण और उनका जबरन धर्मांतरण कराने के लिए जाना जाता है। वह कथित तौर पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और सेना प्रमुख का करीबी है।