समाचार
पासपोर्ट पर कमल के प्रतीक से उठे प्रश्न, विदेश मंत्रालय- “राष्ट्रीय चिह्न सुरक्षा का हिस्सा”

लोकसभा में विपक्ष के सांसदों द्वारा भारत के नए पासपोर्ट पर कमल का प्रतीक छपे होने के कारण इसपर सवाल उठाए गए थे। इसी विषय पर सरकार की ओर से स्पष्टीकरण देते हुए विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार (12 दिसंबर) को कहा कि नकली पासपोर्ट की पहचान करने के लिए यह बढ़ी हुई सुरक्षा सुविधाओं का हिस्सा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार रवीश कुमार ने यह भी कहा कि कमल हमारे राष्ट्रीय प्रतीकोंं में से एक है और सभी राष्ट्रीय प्रतीकोंं का एक-एक कर प्रयोग किया जाएगा।

रवीश ने आगे बताया कि इन सुरक्षा सुविधाओं को अंतर्राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आईसीएओ) के दिशा निर्देशों के अनुसार ही लागू किया गया है।

इससे पहले विपक्ष के सदस्यों में नए पासपोर्ट पर कमल का प्रतीक छापने का मुद्दा उठाते हुए इस कदम को देश के, ‘भगवाकरण’, से जोड़ा था। सदस्यों ने इस तथ्य की ओर भी ध्यान दिलाया था कि कमल सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का भी प्रतीक है।