समाचार
कुंभ के दूसरे शाही स्नान के लिए विशेष प्रबंधन, मौनी अमावस्या के साथ शुभ संयोग

आज (4 फरवरी) मौनी अमावस्या है और इसी दिन कुंभ का दूसरा शाही स्नान आयोजित किया जा रहा है माघ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मौनी अमावस्या के नाम से जाना जाता है। इस दिन को इसलिए भी महासंयोग माना जा रहा है क्योंकि आज सोमवार है और इसे सोमवती अमावस्या भी कहा जा रहा है। इस अमावस्या का हिंदू धर्म में एक विशेष महत्त्व है तथा इसी कारणवश दूसरे शाही स्नान के लिए योगी सरकार ने विशेष प्रबंधन किए हैं।

नवभारत टाइम्स  की रिपोर्ट के अनुसार, “कुंभ प्रयागराज के दूसरे मुख्य शाही स्नान के लिए काफी लोग पहले से ही पहुँच गए हैं एवं 40 घाटों पर स्नान हेतु व्यवस्था की गई है संगम पर स्नान के लिए करीबन 6 किलोमीटर का घाट तैयार किया गया है। मेला प्रशासन के अनुसार लगभग 1000 पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है साथ ही 58 फायर स्टेशन और 96 वाच टॉवर भी बनाए गए हैं।“

सबसे पहले सन्यासियों के समूह ने सुबह के 6:15 से 6:55 तक शाही स्नान का आनंद लिया। कुंभ का दूसरा शाही स्नान शाम 5:50 बजे तक समाप्त हो जाने की संभावना है। प्रयागराज कुंभ के अलावा सोमवती अमावस्या को लोग हरिद्वार, वाराणसी और गंगासागर में भी डुबकी लगाएँगे।