समाचार
जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर वैश्विक आतंकी घोषित

आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को आखिरकार सँयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने प्रतिबंध सूची में शामिल कर वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया।

सँयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत और स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने इस बात की जानकारी दी। उन्होंने उन सभी का आभार व्यक्त किया, जिन्होंने आतंकवाद के प्रति शून्य सहिष्णुता का संदेश देने और इसे संभव बनाने में मदद की।

यह कूटनीतिज्ञ जीत चीन की सबसे बड़ी हार मानी जा रही है। वह कई साल से सँयुक्त राष्ट्र की वैश्विक आतंकवाद की प्रतिबंध सूची में मसूद को शामिल करने में रोड़ा अटका रहा था। इस वजह से भारत और अन्य सदस्यों का सँयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) पर कूटनीतिज्ञ दबाव बढ़ गया था।

पुलवामा हमले के बाद अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने सुरक्षा परिषद के 1267 अलकायदा प्रतिबंध कमेटी के समक्ष मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए एक प्रस्ताव पेश किया था। इस दौरान अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने आतंकवाद पर दोहरे मापदंड अपनाने के लिए चीन के खिलाफ तीखा हमला किया था।

यूएनएससी के सामने सभी सदस्य देशों के राजनायिकों ने चीन पर दबाव बनाने के लिए वोट डालने की धमकी दी, जिसके बाद चीन ने अपने हाथ पीछे खींच लिए।