समाचार
गोवा- भाजपा में कांग्रेसियों को शामिल करने पर पार्टी संरक्षक और पर्रिकर के बेटे नाराज

गोवा विधानसभा के 10 कांग्रेस विधायकों को भारतीय जनता पार्टी में शामिल किए जाने से पूर्व मुख्यमंत्री और रक्षा मंत्री रहे दिवंगत मनोहर पर्रिकर के करीबी माने जाने वाले पार्टी के पुराने संरक्षक इसकी आलोचना कर रहे हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, पिछली पर्रिकर के नेतृत्व वाली सरकार में पूर्व पर्यावरण मंत्री रहे राजेंद्र अर्लेकर ने कहा, “जो कुछ भी हुआ है, वह सही नहीं है। यह उस पार्टी के सिद्धांतों और संस्कृति के अनुसार नहीं है, जिसे हमने स्थापित किया था। हम देखेंगे कि इसे सुधारने के लिए क्या किया जा सकता है। मैं इस मामले को पार्टी अध्यक्ष के सामने ले जाऊँगा।”

गोवा विधानसभा स्पीकर रह चुके अर्लेकर को पर्रिकर, पूर्व मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत परसेकर और केंद्रीय राज्यमंत्री व उत्तर गोवा के सांसद श्रीपाल नाइक के साथ 1980 और 1990 के दशक में गोवा में पार्टी की स्थापना में मदद करने के लिए जाना जाता है।

पर्रिकर के एक अन्य सहयोगी गिरिराज पाई वर्नेकर ने कहा, “गोवा भाजपा ने विधायक बढ़ाए हैं लेकिन उन्होंने मेरे जैसे कार्यकर्ताओं का भरोसा खो दिया है। हम एक बेहतर गोवा के लिए लड़ना जारी रखेंगे। फिर भले ही इसका मतलब खुद की पार्टी के खिलाफ लड़ना ही क्यों न निकले।”

इस विरोध में पार्रिकर के बेटे भी शामिल हैं। उत्पल पर्रिकर ने चिंता व्यक्त की, “पार्टी ने जो दिशा ली थी, उसकी मेरे पिता ने कल्पना नहीं की थी। उन्होंने अपनी राजनीति में विश्वास का मार्ग जो स्थापित किया था, वो 17 मार्च को उनके निधन के साथ समाप्त हो गया है।”