समाचार
लक्ष्मी रतन शुक्ला के मंत्री पद छोड़ने पर ममता बनर्जी बोलीं “गलत आशय न निकालें”

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) से शुभेंदु अधिकारी के बाद अब कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला ने अपना त्याग-पत्र दे दिया है। हालाँकि, अभी तक उन्होंने एमएलए पद नहीं छोड़ा है।

टाइम्स नाऊ हिंदी की रिपोर्ट के अनुसार, लक्ष्मी रतन शुक्ला ने पार्टी से हावड़ा जिलाध्यक्ष का पद त्याग दिया है। वह सरकार में खेल मंत्री थे। सूत्रों का कहना है कि लक्ष्मी रतन ने राजनीति छोड़ने की इच्छा व्यक्त की है।

ममता बनर्जी ने कहा, “उनके इस्तीफे को नकारात्मक तरीके से नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी पद त्याग सकता है। उन्होंने अपने त्याग-पत्र में कहा है कि वह खेल को अधिक समय देना चाहते हैं पर विधायक बने रहेंगे। इसका गलत आशय न निकालें।”

इस पर भाजपा के आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय ने कहा, “तृणमूल के दिग्गज ममता बनर्जी का साथ छोड़ रहे हैं। लक्ष्मी रतन शुक्ला के साथ दो और मंत्रियों राजिब बनर्जी और पार्थ चटर्जी ने भी कैबिनेट बैठक को छोड़ दिया था। अब राज्य में भगवा लहर को कोई नहीं रोक सकता है।”

बता दें कि लक्ष्मी रतन शुक्ला भारत की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट टीम के लिए तीन एकदिवसीय मैच खेल चुके हैं। वह आईपीएल में कोलकाता नाइटराइडर्स, सनराइजर्स हैदराबाद और दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेल चुके हैं। फिर वह राजनीति में आए। वह बंगाल के हावड़ा उत्तर से विधायक बने। उसके बाद ममता सरकार ने उन्हें खेल एवं युवा मामलों के मंत्री की ज़िम्मेदारी सौंप दी थी।