समाचार
“ममता सरकार ने लुकआउट नोटिस पर भी जमातियों को बांग्लादेश जाने दिया”- राज्यपाल

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि उनके नेतृत्व वाली सरकार ने विदेशी तबलीगी जमात के सदस्यों के विरुद्ध लुकआउट नोटिस जारी होने के बावजूद आंखें मूदकर उन्हें बांग्लादेश के लिए रवाना होने दिया।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, विदेशी तबलीगी जमात के सदस्यों ने भारत के वीजा नियमों की खूब धज्जियाँ उड़ाई थीं। राज्यपाल धनखड़ के अनुसार, 19 तबलीगी जमात के सदस्य कोलकाता छोड़कर बस के जरिए हरिदासपुर चेक-पोस्ट के रास्ते बांग्लादेश के लिए रवाना हुए थे। सीमा पर तैनात अधिकारियों ने देखा कि उनके पास एक लंबित लुकआउट नोटिस था। इसके बाद उन्होंने उन सबको हिरासत में ले लिया था।

उन्होंने कहा कि तबलीगी जमात के सदस्यों को कोलकाता के एक पृथक केंद्र में रखा जा रहा था। उन्हें सात दिनों में पेश करने के लिए दिल्ली के डीसीपी क्राइम ने आदेश दिए थे। हालाँकि, सीमा पर अंत में रुकने से पहले जमातियों ने बांग्लादेश जाने के लिए बस ली थी।

इस तरह ममता सरकार पर केंद्र के लुकआउट नोटिस के अपमान और भारत छोड़कर बांग्लादेश जाने की कोशिश करने वाले तबलीगी सदस्यों की अनदेखी करने का आरोप लगाया गया। उधर, तृणमूल कांग्रेस ने कथित तौर पर सभी नियमों का पालन करने का दावा करते हुए आरोपों से इनकार किया है।