समाचार
भारतीय नौसेना में स्वदेश निर्मित एएलएच मार्क-3 विमान की पहली इकाई शामिल

स्वदेश में निर्मित एएलएच मार्क-3 विमान की पहली इकाई भारतीय नौसेना एयर स्क्वाड्रन (आईएनएएस) 323 को सोमवार (19 अप्रैल) को आईएनएस हंसा गोवा में रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक द्वारा भारतीय नौसेना में शामिल किया गया।

यह स्क्वाड्रन अत्याधुनिक एएलएच एमके-3 का संचालन करेगा, जो हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) द्वारा निर्मित शक्ति इंजन के साथ एक बहुभूमिका वाला हेलीकॉप्टर है।

एएलएच के मार्क-3 संस्करण में सभी ग्लास कॉकपिट हैं। इसका उपयोग खोज और बचाव, विशेष संचालन और तटीय निगरानी के लिए किया जाएगा। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “16 विमानों की खरीद प्रक्रिया में है। भारतीय नौसेना को विमान चरणबद्ध तरीके से दिए जा रहे हैं।”

सभा को संबोधित करते हुए रक्षा राज्यमंत्री ने कहा, “आईएनएएस 323 को शामिल करना समुद्री सुरक्षा बढ़ाने और राष्ट्र के समुद्री हितों की रक्षा के प्रयासों में एक और मील का पत्थर साबित हुआ है। साथ ही यह आत्मनिर्भर भारत की भावना का प्रतीक भी है।”

गोवा क्षेत्र के फ्लैग कमांडिंग ऑफिसर रेयर एडमिरल फिलिप जी पाइनमूटिल ने कहा, “राडार हमें निगरानी क्षमता देगा। मेडिकल आईसीयू पहले नहीं था। हम घटना के वक्त मरीजों को जहाजों से निकालते थे। अब विमान के अंदर एक आईसीयू क्षमता है। एक 0.7 मिमी की बंदूक, जो फिर से एक लीमो (कम तीव्रता वाले समुद्री संचालन) दृष्टिकोण से हमें बड़ी क्षमता प्रदान करेगा।”

उन्होंने कहा, “इसमें एक मेगाफोन है और कई विचित्र चीजें भी हैं। स्वचालित उड़ान नियंत्रण प्रणाली पहले वाले से काफी बेहतर हुई है। इसमें कई ऐसी वजहें हैं, जो संचालन के सभी पहलुओं को बढ़ाएँगी।”