समाचार
एल्सटॉम ने दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ के लिए उन्नत ट्रेन डब्बों का घरेलू निर्माण शुरू किया

केंद्र सरकार के आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया नीति को आगे बढ़ाने के लिए एक बड़े प्रोत्साहन के रूप में फ्रांस आधारित एल्सटॉम ने क्षेत्रीय त्वरित परिवहन प्रणाली (आरआरटीएस) के निर्माणाधीन दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ सेमी-हाई-स्पीड कॉरिडोर के लिए तकनीकी रूप से उन्नत ट्रेन डब्बों का घरेलू निर्माण शुरू कर दिया।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने मई 2020 में 210 क्षेत्रीय कंप्यूटर और परिवहन ट्रेन डब्बों की डिज़ाइनिंग, निर्माण और आपूर्ति का अनुबंध प्राप्त किया था। इसके साथ ही अनुबंध में 15 वर्ष के लिए व्यापक रख-रखाव सेवाएँ देने का काम भी सम्मिलित था।

अनुबंध के तहत, एल्सटॉम छह डब्बों के 30 नियमित आने-जाने वाली क्षेत्रीय ट्रेन के सेटों और तीन डब्बों के 10 सार्वजनिक अंतर-शहरीय परिवहन ट्रेन सेट वितरित करेगा। इन ट्रेन सेटों का निर्माण 100 प्रतिशत स्वदेशी तरीके से किया जा रहा है, जिसमें 80 प्रतिशत से अधिक स्थानीयकरण है।

गुजरात के सावली में एल्सटॉम के सुविधा केंद्र में बोगियों और डब्बों के निकायों का निर्माण किया जा रहा है। उक्त सुविधा केंद्र पर ट्रेन का परीक्षण भी किया जाएगा। इस बीच, ट्रेन सेट के लिए संचालन प्रणाली और इलेक्ट्रिकल्स का निर्माण कंपनी के मानेजा (गुजरात) के कारखाने में किया जा रहा है।