समाचार
एनसीपी आई भाजपा के साथ, देवेंद्र फडणवीस दूसरी बार बने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद करीब एक महीने तक चली सरकार बनाने की उठापटक बड़े उलटफेर के साथ खत्म हुई। शनिवार सुबह एनसीपी ने शिवसेना को बड़ा झटका देते हुए भाजपा का दामन थाम लिया। भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने सुबह राजभवन में दूसरी बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, एनसीपी नेता अजीत पवार ने उप-मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है। शुक्रवार रात तक मुख्यमंत्री पद के लिए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के नाम की चर्चा जोरों पर थी। इस पर शनिवार को लगभग मुहर लगना तय माना जा रहा था। शिवसेना ने इतिहास लिखने की तैयारियां भी शुरू कर दी थीं लेकिन ऐन मौके पर एनसीपी ने दबे कदमों से उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शपथ लेने के बाद कहा, “लोगों से हमें एक स्पष्ट जनादेश मिला था लेकिन शिवसेना ने परिणाम आने के बाद अन्य दलों के साथ सहयोगी होने का प्रयास किया। नतीजतन, राष्ट्रपति शासन लगाया गया। महाराष्ट्र को एक स्थिर सरकार की जरूरत है, ना कि खिचड़ी सरकार की।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देवेंद्र फड़णवीस को मुख्यमंत्री और अजीत पवार को उप-मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लिए बधाई दी है। उन्होंने कहा, “मुझे विश्वास है कि वे महाराष्ट्र के उज्ज्वल भविष्य के लिए पूरी लगन से काम करेंगे।”

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा की 288 सीटों के लिए 21 अक्टूबर को चुनाव हुए और नतीजे 24 अक्टूबर को आए थे। राज्य में किसी पार्टी या गठबंधन के सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करने की वजह से 12 नवंबर को राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था। शिवसेना के मुख्यमंत्री पद की मांग को लेकर भाजपा से 30 साल पुराना गठबंधन तोड़ने के बाद से राज्य में राजनीतिक संकट खड़ा हो गया था।