समाचार
महा विकास अघाड़ी की “सेक्युलर” योजना, 80 प्रतिशत नौकरियाँ राज्य के युवाओं के लिए

शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की महा विकास अघाड़ी ने अपनी न्यूनतम सामान्य योजना जारी कर दी है। प्रस्तावना में ‘सेक्युलर’ शब्द का दो बार प्रयोग किया गया है। इसके अलावा इसमें किसानों, बेरोजगारी, महिलाओं, शिक्षा, आदि पर बात की गई है।

किसानों की शीघ्र कर्ज़माफी, फसल बीमा योजना में सुधार और सूखा प्रबावित क्षेत्रों में पानी उपलब्ध कराने का वादा किया गया है। राज्य सरकार के रिक्त पदों को जल्द भरने और एक कानून लाकर 80 प्रतिशत नौकरियाँ राज्य के युवाओं को मिलनी सुनिश्चित की जाएगी।

महिलाओं की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए आर्थिक रूप से पिछड़ी बालिकाओं को मुफ्त शिक्षा और कार्यकारी महिलाओं के लिए हर शहर में छात्रावास बनाने की बात कही गई है। आर्थिक रूप से कमज़ोर लोगों को 0 प्रतिशत ब्याज पर शिक्षा ऋण दिया जाएगा।

तालुक स्तर पर 1 रुपया शुल्क में उपचार किया जाएगा। सभी जिलों में विशेष अस्पतालों की स्थापना और प्रत्येक नागरिक को स्वास्थ्य बीमा का वादा किया गया है। सामाजिक न्याय और औद्योगिक विकास समेत पर्यटन-कला-संस्कृति के विकास की बी बात की गई है।