समाचार
मनी लॉन्ड्रिंग- कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत 17 सितंबर तक बढ़ी

दिल्ली में केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) की एक विशेष अदालत ने मंगलवार (3 सितंबर) को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी को मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े बैंक धोखाधड़ी के मामले में 17 सितंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

लाइव मिंट  की रिपोर्ट के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पुरी को 20 अगस्त को गिरफ्तार किया था। उन्हें अब 17 सितंबर को अदालत में पेश किया जाएगा, जिसमें 354 करोड़ रुपये की कथित बैंक ऋण धोखाधड़ी मामले की सुनवाई होगी। उनके खिलाफ धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत मुकदमा चलाया जा रहा है।

पुरी के परिवार के लिए 17 अगस्त से मुश्किलें बढ़ गई थीं, जब रतुल पुरी, पिता दीपक पुरी, मां नीता (कमलनाथ की बहन) और कई अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। मामले में एफआईआर दर्ज होने और मनी लॉन्ड्रिंग के खुलासे के बाद पीएमएलए के प्रावधानों को दबाने की कोशिश की गई थी।

इस बीच, अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर घोटाले की सुनवाई करने वाली एक अन्य सीबीआई अदालत ने तिहाड़ जेल अधिकारियों को बुधवार को पुरी को पेश करने का निर्देश दिया है। ऐसे में विशेष न्यायाधीश अरविंद कुमार पुरी के आत्मसमर्पण के आवेदन पर फैसला कर सकते हैं।