समाचार
एलसीयू जहाज भारतीय नौसेना में शामिल, युद्धक टैंकों व ट्रकों को ले जाने में है सक्षम

भारतीय नौसेना में लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी (एलसीयू) एल58, आठवें और अंतिम लैंडिंग क्राफ्ट यूटिलिटी (एलसीयू) मार्क-4 जहाज को अंडमान व निकोबार द्वीप के पोर्ट ब्लेयर में गुरुवार (18 मार्च) को शामिल किया गया।

जहाज को कोलकाता गार्डन रीच शिपबिल्डर्स एंड इंजीनियर्स लिमिटेड (जीआरएसई) द्वारा स्वदेशी रूप से डिजाइन और निर्मित किया गया है। इस जहाज को शामिल किया जाना मेक इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत के कार्यक्रम की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

एलसीयू 58 एक उभयचर जहाज है। यह अपने चालक दल के अलावा 160 सैनिकों को ले जा सकता है। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 900 टन के विस्थापन के साथ जहाज कई तरह के युद्धक वाहनों जैसे मुख्य युद्धक टैंक (एमबीटी), बीएमपी, बख्तरबंद वाहन, ट्रक आदि को ले जाने में सक्षम है।

जहाज की लंबाई 63 मीटर है। इसे दो एमटीए 4,000 शृंखला इंजनों के साथ लगाया गया है, जो 15 समुद्री मील (28 किमी प्रति घंटे) की गति से जहाज को चलाने में सक्षम हैं। जहाज भी एक उन्नत इलेक्ट्रॉनिक समर्थन उपाय (ईएसएम) के साथ सुसज्जित है, ताकि दुश्मन के राडार प्रसारण को बाधित किया जा सके।