समाचार
विजय माल्या को लंदन न्यायालय से मिला झटका, नहीं बच सकेंगे प्रत्यर्पण से

भारत से भागने वाले शराब कारोबारी विजय माल्या को लंदन की अदालत से तगड़ा झटका लगा है। अदालत ने माल्या की प्रत्यर्पण के खिलाफ दी गई अर्जी को खारिज कर दिया है। उन्हें प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील करने की अनुमति नहीं दी है।

इंडियन एक्स्प्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, लंदन की अदालत ने विजय माल्या की लिखित अपील को खारिज कर दिया है। इसके बाद उन्हें मौखिक सुनवाई के लिए 30 मिनट का समय दिया जाएगा। अब माल्या के पास ब्रिटेन की सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का ही विकल्प है। इसमें कम से कम छह सप्ताह का वक्त लग सकता है।

9000 करोड़ रुपये से ज्यादा के घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में भगौड़े विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिए भारतीय एजेंसियां लंबे समय से कोशिश कर रही थीं। इससे पहले लंदन की अदालत ने दिसंबर में विजय माल्या के प्रत्यर्पण को मंजूरी दी थी।

किंगफिशर के मालिक माल्या बीते दिनों भारत सरकार को कोसने वाले बयानों से खूब सुर्खियों में रहे थे। उनका आरोप था, “नौ हजार करोड़ रुपये के लिए अधिकारी दुनियाभर में उनकी चौदह हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति जब्त कर चुके हैं।” विदेश मंत्रालय के समर्थन से केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय भारत से भागने वाले माल्या और नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया में तेजी से लगे हुए हैं।