समाचार
17वें लोकसभा चुनाव ने रचा इतिहास, पहली बार संसद पहुँच रही हैं 78 महिलाएँ

17वीं लोकसभा चुनाव में महिलाओं ने अपना वर्चस्व स्थापित कर नया इतिहास रच दिया है। 2019 के आम चुनाव में देशभर से कुल 78 महिला सांसद चुनी गई हैं, जो संसद पहुँच रही हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक 11 महिला निर्वाचित प्रतिनिधि हैं। उत्तर प्रदेश ने चुनाव में कुल 104 महिलाओं को मैदान में उतारा था, जिनमें से 11 ही अपनी जीत दर्ज कर पाईं। यूपी में महिला विजेताओं में सोनिया गांधी और मेनिका गांधी प्रमुख हैं, जो क्रमश: रायबरेली और सुल्तानपुर से जीती हैं।

महिलाओं में सबसे उल्लेखनीय प्रदर्शन अमेठी से भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी का रहा। उन्होंने राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा और कांग्रेस की परंपरागत सीट पर सेंध लगा दी। उन्होंने 55,000 मतों के अंतर से कांग्रेस अध्यक्ष को पराजित कर दिया। चुनाव आयोग की मानें तो 34 लोकसभा क्षेत्रों में महिलाओं ने पुरुष मतदाताओं को पछाड़ दिया है।

चुनाव जीतने वाले उम्मीदवारों में बदायूं में भाजपा नेता संघमित्रा मौर्य, धरहौरा में रेखा वर्मा, इलाहाबाद में डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, फतेहपुर में साध्वी निरंजन ज्योति, फूलपुर में केशव देवी पटेल, मिर्जापुर में अपना दल की अनुप्रिया पटेल और लालगंज में गठबंधन की संगीता आजाद जीती हैं।