समाचार
मप्र कर्ज़माफी की सच्चाई? अपेक्षा 24,000 रुपये की और सूची में मात्र 13 रुपये

मध्य प्रदेश में किसानों की कर्ज़माफी को लेकर बुधवार (23 जनवरी) को जारी की गई लाभार्थी सूची में शिवलाल कटारिया को उनके नाम के आगे 13 रुपये की राशि दिखी दहाँ वे 24,000 रुपयों की अपेक्षा कर रहे थे, बिज़नेस स्टैंडर्ड  ने बताया।

“राज्य सरकार ने 2 लाख रुपये तक कर्ज़माफी की घोषणा की थी। फॉर्म भरे गए थे और मैं 23,815 रुपये के ऋण की पूर्ण रूप से माफी की अपेक्षा कर रहा था। लेकिन पंचायत के पास जो सूची आई है, उसमें लिखा है कि मात्र 13 रुपये ही माफ हुए हैं।”, कटारिया ने कहा।

कटारिया अगर मालवा जिले के निपनिया बैजनाथ गाँव का निवासी है। कथित तौर पर वह कांग्रेस की कर्ज़माफी की घोषणा से उत्साहित था और राहत मिलने की आशा कर रहा था।

“कर्ज़माफी स्कीम में कई अनियमितताएँ हैं। मैंने प्राधिकारियों को इस मामले की सूचना दे दी है।”, उसने बताया। हालाँकि कांग्रेस सरकार ने ऋण संवितरण के चरण पर त्रुटि बताई है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमल नाथ ने चुनावी वादे के अनुसार कर्ज़माफी की घोषणा की थी। 15 जनवरी से आवेदन भरे जाने थे। कथित तौर पर इस स्कीम से 55 लाख किसानों को लाभ मिलता और इसमें कुल 50,000 करोड़ रुपये का व्यय होता।