समाचार
लोजपा नीतीश कुमार के नेतृत्व में नहीं लडे़गी बिहार चुनाव, भाजपा को रहेगा समर्थन

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) ने जनता दल यूनाइटेड (जदयू) प्रमुख नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। इस तरह एनडीए में दरार पड़ती नज़र आ रही है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, यह फैसला रविवार को दिल्ली में हुई पार्टी की संसदीय दल की बैठक में लिया गया। चिराग पासवान ने पार्टी की केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद जीत के संकेत दिए।

पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान के नेतृत्व में हुई बैठक में प्रस्ताव पास हुआ कि लोजपा के सभी विधायक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करेंगे। पार्टी ने जदयू के नेतृत्व को खारिज करने के फैसले का कारण वैचारिक मतभेदों को बताया है।

लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव अब्दुल खालिक ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर और लोकसभा चुनाव में भाजपा, लोजपा का मजबूत गठबंधन है। राजकीय स्तर पर और विधानसभा चुनाव में गठबंधन में मौजूद जदयू से वैचारिक मतभेदों के कारण बिहार में पार्टी ने गठबंधन से अलग चुनाव लड़ने का फैसला किया है।

खालिक ने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी का मानना है कि केंद्र की तर्ज पर बिहार में भी भाजपा के नेतृत्व में सरकार बने। लोजपा का हर विधायक भाजपा के नेतृत्व में बिहार को प्रथम बनाने का काम करेंगे। सूत्रों ने कहा कि उनकी पार्टी और और भाजपा में कोई कटुता नहीं है और मणिपुर के फार्मूले पर बिहार एनडीए अग्रसर है।