समाचार
बराबरी- क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों की भर्ती परीक्षा हिंदी-अंग्रेज़ी के अलावा 13 भाषाओं में

लोकसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) की भर्तियों के लिए परीक्षाएँ अब हिंदी और अंग्रेज़ी के अलावा 13 क्षेत्रीय भाषाओं में भी आयोजित की जाएँगी।

इन 13 क्षेत्रीय भाषाओं में असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, कोंकणी, मलयालम, मणिपुरी, मराठी, उड़िया, पंजाबी, तमिल, तेलुगू और उर्दू हैं। उम्मीदवारों के पास राज्य की क्षेत्रीय भाषा चुनने का विकल्प होगा, जिसे उन्होंने उपरोक्त भाषाओं में से परीक्षा के माध्यम के रूप में चुना है।

इंस्टिट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सनेल सिलेक्शन (आईबीपीएश) पूरे देश में आरआरबीएस में अधिकारियों की भर्ती के लिए एक कॉमन रिक्रूटमेंट प्रोसेस (सीआरपी) आयोजित करता है। यह परीक्षा अब तक केवल अंग्रेजी और हिंदी में आयोजित की जाती थी। उम्मीदवार क्षेत्रीय भाषाओं में शिक्षित होते थे, जिससे भर्तियां रिक्त ही रह जाती थीं।

हालाँकि, सरकार ने आरआरबी की राज्य-विशिष्ट और ग्रामीण केंद्रित प्रकृति को मान्यता दी है और इसलिए क्षेत्रीय भाषाओं में भी परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया है। स्थानीय भाषाओं का ज्ञान उम्मीदवारों के कर्तव्यों को अधिक प्रभावी ढंग से पूरा करने में मदद करेगा।