समाचार
शरारत या षड्यंत्र? कालिंदी एक्सप्रेस धमाके के बाद पत्र में मोदी पर हमले की बात

बुधवार (20 फरवरी) शाम कालिंदी एक्सप्रेस में हुए छोटे धमाके के बाद जब आतंकवाद-रोधी स्क्वाड (एटीएस) ने बोगी की जाँच की तो कुछ चौंकाने वाले कागज़ मिले। जैश-ए-मोहम्मद एजेंट नाम से मिले एक पत्र में प्रधानमंत्री मोदी पर हमले की योजना का उल्लेख था जिसमें उनकी रैली की बल्ली में आरडीएक्स भरने की बात कही गई थी, जागरण  ने बताया।

इसमें दिल्ली-कानपुर रूट में 27 फरवरी को एक पुलिया पर धमाका करने के षड्यंत्र की भी बात है। “डेढ़ किलो आरडीएक्स विस्फोट कर कानपुर-दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस को निशाना बनाना है। आनंद विहार बस अड्डे पर एक दिन पहले विस्फोटक दे दिया जाएगा।”, पत्र में लिखा था। पत्र के ऊपरी दाएँ कोने में 786 लिखा पाया गया है।

मोदी पर हमले के विषय में लिखा है, “मोदी के मंच को बम से उड़ाना है। इसके लिए दो किलो आरडीएक्स मंच पर लगाई जाने वाली दस फीट बल्ली को काटकर भर दिया गया है। इस काम के लिए साढ़े पांच करोड़ रुपये दिए जाएँगे।”

इसके अलावा एक डायरी भी मिली है लेकिन इसमें कोडवर्ड में कुछ लिखा है और जाँच एजेंसी इसे डिकोड करने में जुट गई है। हालाँकि कुछ जाँच अधिकारियों का कहना है कि जिस तरह से पत्र लिखा गया है, उससे यह किसी की शरारत लग रही है। लेकिन फिर भा मामले को गंभीरता से लेकर जाँच की जा रही है।