समाचार
‘ऊपरवाले से दुआ है इसी जीवन में पीओके को भारत में विलय होता देखूँ’- जितेंद्र सिंह

अनुच्छेद 370 को समाप्त करने और जम्मू-कश्मीर के विभाजन के बाद प्रधानमंत्री मोदी सरकार ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) पर अपने तेवर सख्त कर लिए हैं। रविवार को राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने पीओके को मुक्त कराने और भारत में विलय होने की बात कही।

एएनआई  की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, “संसद में सर्वसम्मति से यह बात रखी गई है कि पीओके को मुक्त कर दिया जाए और उसका भारत में विलय किया जाए। ऊपरवाले से प्रार्थना करता हूँ कि हमें अपने जीवनकाल में इसे देखने का मौका मिले।”

लाइवमिंट की रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हरियाणा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, “अगर पाकिस्तान के साथ बातचीत होती है तो वह अब पीओके पर ही होगी। पड़ोसी देश अंतर-राष्ट्रीय समुदाय से अपील कर रहा है कि भारत ने बहुत बड़ी गलती की है। अब पाकिस्तान के साथ कोई भी वार्ता तभी होगी, जब वह आतंकवाद का समर्थन करना बंद करे।”

पूर्व गृहमंत्री ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर भी कटाक्ष करते हुए कहा, “उन्होंने हाल ही में सार्वजनिक रूप से कहा था कि भारत बालाकोट में बड़ा कदम उठाने की योजना बना रहा है। यानी इमरान खान मान रहे हैं कि भारत ने बालाकोट में क्या किया था।”

राजनाथ सिंह हरियाणा में आगामी विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा को हरी झंडी दिखाने के लिए कालका में थे। समारोह में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी थे, जो भाजपा के राज्य चुनाव प्रभारी हैं।