समाचार
एसी, फ्रिज कंपनियों का चीन पर निर्भरता कम करके घरेलू विनिर्माण बढ़ाने के लिए निवेश

केंद्र सरकार के मेक इन इंडिया कार्यक्रम और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत को बढ़ाने के लिए एलजी, वोल्टास, गोदरेज अप्लायंसेज और ब्लू स्टार जैसे देश के अग्रणी एसी और फ्रिज निर्माताओं ने 1,500 करोड़ रुपये से अधिक के संचयी उद्योग निवेश के साथ अपनी घरेलू विनिर्माण क्षमताओं को 50 से 100 प्रतिशत तक बढ़ाने के लिए एक अभियान पर काम करना शुरू कर दिया है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, यह कदम चीन पर अपनी निर्भरता को कम करने और सरकार की उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना का लाभ लेने के रूप में नज़र आ रहा है। इसके अतिरिक्त उद्योग भी आगे अपने उत्पादों के लिए एक अच्छे वर्ष की उम्मीद कर रहे हैं।

भारत के एयर कंडीशनर के सबसे बड़े निर्माता वोल्टास दक्षिण भारत में एक नई विनिर्माण इकाई स्थापित करने के लिए 100 एकड़ भूमि के लिए खोज कर रहा है। इसके प्रबंध निदेशक प्रदीप बख्शी का कहना है, “उद्योग को चीन के साथ निर्भरता कम करनी होगी। साथ ही सरकार ने आयात शुल्क बढ़ाकर आत्मनिर्भर होने के लिए स्पष्ट कर दिया है।”

इस बीच, एलजी इंडिया ने एसी के लिए अपनी घरेलू विनिर्माण क्षमता में लगभग 35 प्रतिशत और फ्रिज के लिए 10 प्रतिशत का विस्तार किया है। ब्लू स्टार ने अपनी निर्माण सुविधाओं के 200 करोड़ रुपये का विस्तार किया है। इसके अलावा यह स्थानीयकरण की ओर भी बढ़ रहा है।