समाचार
मध्य प्रदेश की विधानसभा में लव जिहाद को लेकर कानून ध्वनि मत के साथ पारित

मध्य प्रदेश में लव जिहाद को लेकर सोमवार (8 मार्च) को मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2021 विधानसभा में ध्वनि मत के साथ पारित किया गया। अब इस विधेयक को राज्यपाल की स्वीकृति मिलने के बाद राज्य में लागू कर दिया जाएगा। इसके तहत धर्मांतरण के मामले में अधिकतम 10 वर्ष तक की कैद और भारी जुर्माने का प्रावधान रखा गया है।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की स्वीकृति मिलने के बाद यह कानून नौ जनवरी को अधिसूचित मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अध्यादेश-2020 की जगह ले लेगा।

प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एक मार्च को इस विधेयक को सदन में पेश किया था और सोमवार को चर्चा के बाद इसे पारित कर दिया गया। बता दें कि राज्य सरकार के इस कानून का उल्लंघन करने वाली किसी भी शादी को शून्य माना जाएगा। इससे पहले उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ कानून लाया गया था।