समाचार
पाकिस्तान में हाफिज सईद और उसके 12 करीबियों पर टेरर फंडिंग के 23 मुकदमे दर्ज

पाकिस्तान काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) ने आतंकी हाफिज सईद और उसके 12 करीबियों के खिलाफ टेरर फंडिंग के मामले में 23 मुकदमे लाहौर समेत तीन अलग-अलग शहरों में दर्ज किए गए हैं।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, जमात-उद-दावा और उसके करीबी आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए 5 ट्रस्ट का इस्तेमाल करते हैं और हाफिज सईद जमात का प्रमुख है। भारत की कूटनीतिक कोशिशों के बाद पाकिस्तान सरकार पर आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई का वैश्विक दबाव बना है।

लश्कर-ए-तैयबा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) के ट्रस्ट से जुड़े नेताओं के नाम मामले में शामिल हैं। जाँच में पता चला है कि जमात, लश्कर और एफआईएफ अपने ट्रस्ट के जरिए पैसे जुटाते हैं। फिर इसे आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने में लगाया जाता है।

ट्रस्टों में अल-अनफाल, दावत-उल-इरशाद, अल हमद, अल मदीना और मौज बिन जबल के नाम सामने आए हैं। सभी 23 केस की सुनवाई आतंकवाद निरोधी कोर्ट में चलेगी। मालूम हो कि आतंकी हाफिज 26/11 मुंबई अटैक का मास्टरमाइंड है।

वह जमात के जरिए अपने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के लिए पैसे जुटाता है। अमेरिका 2012 में हाफिज को वैश्विक आतंकी घोषित कर चुका है। उसके ऊपर एक करोड़ डॉलर का ईनाम भी रखा गया है।