समाचार
महाशिवरात्री पर उमड़े श्रद्धालु, गिनीज़ रिकॉर्ड की तीन सूचियों में कुंभ 2019

15 जनवरी मकरसंक्रांति के दिन शुरू हुआ प्रयागराज में कुंभ मेले का आज (4 मार्च) आखिरी दिन है। आज महाशिवरात्रि के पर्व पर कई शिव भक्त इसमें सम्मिलित हुए। रविवार (3 मार्च) देर रात से ही भक्तों का हुजूम बाबा विश्वनाथ के दर्शनों के लिए उमड़ पड़ा था, भारी बारिश होने बावजूद भी भक्तों ने अपना स्थान नहीं छोड़ा। इस बार भक्तों के लिए मंदिर को जाने वाले सभी रास्तों पर लाल कालीन प्रशासन द्वारा बिछाया गया था। रविवार की शाम जिलाधिकारी सहित आला प्रशासनिक अधिकारियों ने तैयारियों का जायजा भी लिया था, लाइव हिंदुस्तान  ने रिपोर्ट किया।

आज महाशिवरात्रि के अवसर पर सुबह 10 बजे तक संगम में 50 लाख से ज़्यादा लोगों ने डुबकी लगा ली थी। भक्तों ने संगम में डुबकी लगाने का कार्यक्रम सुबह चार बजे से ही शुरू कर दिया था। कानपुर के बाबा आनंदेश्वर, वासुदेव तीर्थ मंदिर, भदेश्वरनाथ मंदिर और रुद्रपुर के दुग्धेश्वर मंदिर में सोमवार (4 मार्च) सुबह तीन बजे से ही भक्तों ने जलाभिषेक शुरू कर दिया था। महाशिवरात्रि के इस पर्व शिव भक्तों के ऊपर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा भी की गई।

सर्वाधिक ट्रैफिक और भीड़ प्रबंधन योजना, सबसे बड़े स्वच्छता अभियान और कूड़ निवारण तंत्र और पेंट माई सिटी स्कीम के तहत सार्वजनिक स्थल पर सबसे बड़े चित्रकला कार्यक्रम के आयोजन जैसी तीन सूचियों में प्रयागराज कुंभ मेला 2019 ने अपना नाम गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल करा लिया है। सरकार ने रविवार (3 मार्च) को यह जानकारी दी है।