समाचार
कुलदीप सिंह सेंगर उन्नाव दुष्कर्म मामले में दोषी करार, 19 दिसंबर को सुनाया जाएगा दंड

उन्नाव दुष्कर्म मामले में दिल्ली के तीस हज़ारी न्यायालय ने सोमवार (16 दिसंबर) को भाजपा से निष्कासित पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को 2017 में एक नाबालिग का अपहरण और बलात्कार करने के आरोप में दोषी पाया। उसके दंड की सुनवाई न्यायालय 19 दिसंबर को करेगा।

भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 और पोक्सो को खंड 5 व 6 के तहत सेंगर को दोषी पाया गया। हालाँकि उसके साथ दूसरी आरोपिता शशि सिंह को सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया है, डीएनए  ने रिपोर्ट किया।

सुनवाई के दौरान जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने माना कि मामले को तुरंत दर्ज नहीं किया गया था व उत्तरजीविका को जान से मारने की धमकियाँ भी मिली थीं। सीबीआई पर भी आरोप-पत्र दायर करने में लगे एक वर्ष के समय के लिए प्रश्न उठाए गए।

इस वर्ष जुलाई में परिवार के साथ रायबरेली जा रही उत्तरजीविका की गाड़ी की ट्रक से टक्कर हुई थी जिसके बाद उसे एम्स दिल्ली में भर्ती किया गया था। उत्तरजीविका का बयान लेने के लिए अस्पताल में ही विशेष अदालत चलाई गई थी।

5 अगस्त से मामले की प्रतिदिन सुनवाई हुई। वर्तमान में सेंगर तिहाड़ जेल में बंद है।