समाचार
कोलकाता- सोशल मीडिया पर कोरोनावायरस की अफवाह फैलाने के आरोप में महिला गिरफ्तार
सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान

सोशल मीडिया पर कथित तौर पर कोरोनावायरस को लेकर अफवाह फैलाने के आरोप में कोलकाता पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने शुक्रवार (27 मार्च) को एक महिला को गिरफ्तार कर लिया। उसने पोस्ट किया था कि एक डॉक्टर सरकारी अस्पताल में इलाज करते वक्त वायरस से संक्रमित हो गया था।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, महिला ने बंगाली अखबार के एक फर्जी पेज की तस्वीर भी सोशल मीडिया पर अपलोड की। पुलिस के जासूसी विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “फर्जी समाचार पोस्ट करने और अफवाह फैलाने के आरोप में महिला को गिरफ्तार किया गया है।”

आरोपी महिला गायक है और थिएटर की कलाकार भी है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारी ने कहा, “यह फर्जी खबर है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने तुरंत कोलकाता पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। राज्य में अभी तक कोई भी डॉक्टर या कोई स्वास्थ्य कर्मचारी वायरस से संक्रमित नहीं पाया गया है।”

महिला के खिलाफ सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66सी (पहचान की चोरी के लिए सजा) और आईपीसी के तहत संबंधित वर्गों में भय फैलाने के तहत मामला दर्ज किया गया है।