समाचार
ममता बनर्जी पर कोलकाता उच्च न्यायालय का भारी जुर्माना, न्यायाधीश हटाने की थी मांग

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कोलकाता उच्च न्यायालय ने नंदीग्राम चुनाव मामले में न्यायाधीश को हटाने की मांग करने पर पाँच लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, नंदीग्राम चुनाव मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश कौशिक चंदा ने अपने ऊपर लगे आरोपों को निराधार पाते हुए तृणमूल कांग्रेस प्रमुख पर जुर्माना लगाया है।

जुर्माने की राशि से कोविड-19 के दौरान जान गंवाने वाले वकीलों के परिवारों की सहायता की जाएगी। न्यायाधीश कौशिक चंदा ने स्वयं निर्णय सुनाते हुए कहा, यदि कोई व्यक्ति किसी राजनीतिक दल के लिए उपस्थित होता है तो यह असमान्य है लेकिन वह एक मामले की सुनवाई करते हुए अपने पूर्वाग्रह को छोड़ देता है।

बता दें कि ममता बनर्जी के वकील ने मामले की सुनवाई के दौरान पक्षपात का हवाला देते हुए न्यायाधीश कौशिक चंदा की पीठ से मामले को स्थानांतरित करने की अपील की थी। मुख्यमंत्री ने दावा किया था कि न्यायाधीश कौशिक को अक्सर भाजपा नेताओं के साथ देखा गया है।