समाचार
आईसीएमआर बोला- “बंगाल को भेजीं किटें खराब नहीं, कम तापमान में रखने की ज़रूरत”

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) में महामारी और संचारी रोगों के प्रमुख डॉक्टर आर गंगाखेड़कर ने ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा दोषपूर्ण कोविड-19 परीक्षण किटों की आपूर्ति किए जाने के आरोपों का खंडन किया है।

आर गंगाखेड़कर ने सोमवार को प्रेस वार्ता के दौरान कहा, “आरटीसीपीआर किट यूएस एफडीए अनुमोदित है और उच्च गुणवत्ता के मानक के साथ आती है।”

हालाँकि, उन्होंने यह आगाह किया कि परीक्षण किटों को 20 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान पर रखने की ज़रूरत होती है नहीं तो उनके परिणामों में सटीकता नहीं आ पाती है। अगर एक टेक्नीशियन अनजाने में किट्स को परीक्षण के दौरान कमरे के तापमान पर रखता है तो ऐसी समस्या आ सकती है।

उन्होंने यह भी कहा कि अस्थायी रूप से संकट से निपटने के लिए बंगाल सरकार को 10,000 परीक्षणों के लिए अतिरिक्त किट भेजने का निर्णय किया गया है।