समाचार
केरल में महिला पुलिसकर्मी सौम्या को साथी एजाज़ ने पेट्रोल डालकर ज़िंदा जलाया

केरल के अलप्पुझा जिले में दिनदहाड़े एक महिला पुलिस अधिकारी पर साथी ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने पहले निर्दयता से चाकू से हमला किया और फिर पेट्रोल डालकर आग के हवाले कर दिया। राज्य में पिछले चार महीनों में किसी महिला को सार्वजनिक रूप से आग लगाकर मारने की यह तीसरी घटना है।

मातृभूमि  की रिपोर्ट के अनुसार, महिला पुलिस अधिकारी सौम्या पुष्पाकरन (31) की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पुरुष पुलिसकर्मी एजाज़ (33) गंभीर रूप से घायल है। उसे अलप्पुझा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

वल्मिककुन्नम थाना क्षेत्र में छात्र पुलिस कैडेट (एसपीसी) परीक्षा को देख रही सौम्या दोपहर 3.30 बजे सचिवालय सहायक परीक्षा देने के बाद अपनी स्कूटी से घर लौट रही थी। आरोपी एजाज़ ने कार से उसका पीछा किया और स्कूटी को टक्कर मार दी।

स्कूटी से गिरने के बाद सौम्या खुद को बचाने के लिए पास के एक घर में भागी। एजाज़ ने उसका पीछा किया और सार्वजनिक रूप से पहले उसपर चाकू से हमला किया। लोगों ने जैसे ही शोर सुना वे भागे। लोगों को आता देख आरोपी ने पेट्रोल डालकर सौम्या को आग के हवाले कर दिया।

स्थानीय लोगों ने तुरंत एजाज़ को पकड़ लिया और उसे पुलिस को सौंप दिया। एजाज़ एर्नाकुलम जिले के अलुवा में यातायात पुलिस स्टेशन का अधिकारी है। पुलिस का कहना है, “अभी वारदात के पीछे की वजह का पता नहीं चला है।”

पिछले एक साल से भी कम वक्त से सौम्या पुलिस स्टेशन पर तैनात थी। वह अपने अच्छे व्यवहार के लिए जानी जाती थी। सौम्या के पति विदेश में नौकरी करते हैं और उनके तीन बच्चे हैं। वहीं, एजाज़ अविवाहित है और 9 जून से छुट्टी पर था।