समाचार
केरल ने केंद्र का आदेश नहीं माना, तमिलनाडु को ऑक्सीजन आपूर्ति करने से किया मना

केरल ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत एक आदेश के माध्यम से तमिलनाडु को चिकित्सा ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के केंद्र सरकार के संशोधित आवंटन को अस्वीकृत करते हुए आइनॉक्स कांजीकोड़ से 40 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आपूर्ति से मना कर दिया है।

इससे पूर्व, 30 अप्रैल को केंद्र सरकार ने राज्य के आईनॉक्स कांजीकोड से 150 मीट्रिक टन तरल ऑक्सीजन (एलएमओ) और 20 मीट्रिक टन कर्नाटक को आवंटित की थी। बाद में 8 मई को एक अन्य आदेश के माध्यम से केंद्र ने संयंत्र से आवंटन को संशोधित किया था।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन का एक पत्र प्राप्त होने के बाद केंद्र ने केरल के कांजीकोड़ में आईनॉक्स संयंत्र से तमिलनाडु को 40 मीट्रिक टन के फिर आवंटन की बात कही।

कांजीकोड़ संयंत्र में 170 मीट्रिक टन की कुल क्षमता में से कर्नाटक को आपूर्ति की जा रही 20 मीट्रिक टन एलएमओ को मंगलवार (11 मई) से बंद कर दिया गया। इसके बाद तमिलनाडु को 9 से 12 मई तक चार दिनों के लिए 40 मीट्रिक टन आपूर्ति की गई।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, इसने राज्य के आवंटन को प्रभावी ढंग से दो दिन (10 और 11 मई) तक घटाकर 40 मीट्रिक टन कर दिया। संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच ऑक्सीजन की मांग के कारण केरल ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत अपनी शक्तियों का उपयोग किया।

इस बीच, केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा कि राज्य में उत्पादित होने वाले पूरे 219 मीट्रिक टन ऑक्सीजन को राज्य को ही आवंटित किया जाना चाहिए।

वर्तमान में तमिलनाडु के महेंद्रगिरी में स्थित इसरो के अपने तरल प्रणोदन प्रणाली केंद्र से 12 से 14 मीट्रिक टन एलएमओ केरल को प्राप्त हो रही है।