समाचार
छोटे मामलों समेत कैदियों के भागने पर बेवक्त कॉल न किया जाए- केरल (जेल) डीजीपी

केरल में पुलिस महानिदेशक (जेल) आर श्रीलेखा ने हाल ही में एक आदेश जारी किया जिसमें उनके अधीनस्थों को बेवक्त उन्हें कैदियों के भागने समेत अन्य ‘गौण बातों’ के लिए परेशान न किया जाए, द न्यूज़ मिनट  ने रिपोर्ट किया।

इस प्रकार के जारी तीसरे अध्यादेश में उन्होंने अपने सहकर्मियों को निर्देश दिया कि कैदियों की बीमारी, मृत्यु, भागने और कानून व्यवस्था संबंधित बातों के लिए उन्हें बेवक्त फ़ोन न किया जाए।

एक वर्ष पूर्व उन्होंने पहला अध्यादेश जारी किया था जहाँ उन्होंने कहा था कि उनके कार्यालय के माध्यम से उनसे संपर्क किया जाए, न कि उन्हें सीधे पोन किया जाए। हालाँकि इसके बावजूद फ़ोन करने वाले अधिकारियों का उन्होंने प्रशिक्षण केंद्रे में स्थानांतरण करवा दिया था।

उन्होंने यह निर्देश दिया है कि सुविधाओं और सुधार संबंधी चीज़ों के लिए उनके बजाय जेल प्रमुख या ज़ोनल डेप्युटी इंस्पेक्टर (डीआईजी) को फोन किया जाए। आर श्रीलेखा केरल की पहली महिला आईपीएस अधिकारी हैं।