समाचार
सीसीटीवी के लिए दिल्लीवाले घर से देंगे बिजली, सरकार देगी 6 यूनिट की सब्सिडी

केजरीवाल सरकार की सीसीटीवी परियोजना के तहत जिन घरों के बाहर की दीवारों पर कैमरे लगवाए जाएँगे, वहीं से ही उसके लिए बिजली भी मुहैया करवाई जाएगी। इसके लिए सरकार की तरफ से अलग से बिजली की व्यवस्था नहीं की जाएगी।

द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने बताया, “दिल्ली सरकार अपनी इस परियोजना के लिए बहुत महत्वाकांक्षी है। सरकार पूरे शहर में करीब 1.4 लाख कैमरे लगवाएगी। जिन घरों के बाहर सीसीसीटीवी कैमरे लगेंगे, उनसे एक एग्रीमेंट करवाया जाएगा और वह किसी भी कीमत पर सीसीटीवी को दी जाने वाली बिजली बंद नहीं कर सकेंगे।”

चूँकि, लोगों के घरों से कैमरे के लिए बिजली दी जाएगी इसलिए सरकार उनके कनेक्शन पर सब्सिडी देगी। इसको लेकर आप के विधायकों के साथ पीडब्ल्यूडी, पुलिस, आरडब्ल्यूए और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड के अधिकारियों ने विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण किया। साथ ही लोगों से उपक्रम पर हस्ताक्षर करने का आग्रह किया।

भारद्वाज ने कहा, “एक जगह पर अधिक्तर 4 सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएँगे, जिनसे करीब 5.5 यूनिट बिजली की खपत होग। सरकार उन घरों को 6 यूनिट बिजली सब्सिडी के रूप में देगी।”

विधायक ने कहा, “सीसीटीवी कैमरे वायरलेस होंगे और सिम कार्ड का इस्तेमाल डाटा ट्रांसफर करने के लिए किया जाएगा। सरकार ने बिजली के तारों से बचने के लिए घरों से बिजली का उपयोग करने का फैसला किया है। उपद्रवियों से बचने के लिए विकेंद्रीकृत प्रणाली होगी।”