समाचार
कश्मीरी पंडितों के नाम श्रीनगर की मतदाता सूची से गायब, वोट न डाल पाने से नाराज़

लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण के दौरान श्रीनगर चुनावी क्षेत्र के लिए जम्मू में स्थापित विशेष मतदान केंद्र में मतदान सूची में से प्रवासी कश्मीरी पंडितों के नाम न होने के कारण वह वोट डालने में असफल रहे।

कश्मीरी पंडितों को वोट का अधिकार न मिलने पर उन्होंने नाराज़ हो कर मतदान केन्द्रों के बाहर खड़े हो कर चुनाव आयोग और अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी भी की। श्रीनगर के चदूरा की राधा कृष्ण भट जो कि एक प्रवासी कश्मीरी पंडित हैं उन्होंने कहा “हम यह वोट डालने आए थे लेकिन हमारा नाम ही मतदान कर्ताओं की सूची में नहीं हैं। हमसे हमारे वोट देने का हक़ छीना जा रहा है।”

राधा ने बताया कि उनके परिवार के चार लोगों को वोट देने से रोक दिया गया। उनका कहना है कि यह पंडितों को वोट देने से रोकने का षड्यंत्र है। राधा के परिवार की तरह कई और पंडित परिवारों  को मतदान केंद्र से निराश हो कर जाना पड़ा। ऐसे में समुदाय के स्थानीय नेता राजीव पंडित ने चुनाव आयोग से इस तरह की परिस्थियों को रोकने के लिए अनुरोध किया है।

यह अनुमान लगाया जा रहा है कि समुदाय के 4720 मतदाताओं में से मात्र 2100 मतदाताओं को वोट डालने का मौका मिला।