समाचार
करतारपुर कॉरिडोर- असहमति के बाद भारत ने पाकिस्तान को पेश किया मसौदा समझौता

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर तीसरे दौर की वार्ता में दोनों पक्षों के बीच असहमति जताई गई थी। डेक्कन क्रॉनिकल की रिपोर्ट के अनुसार, अब भारत ने आगे आकर पाकिस्तान को अपनी ओर से एक मसौदा समझौता पेश किया है। इसके साथ ही वह पिछली मांगों के संबंध में कुछ लचीलेपन के साथ पारस्परिक संबंधों की उम्मीद कर रहा है।

एक अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स के हवाले से कहा, “उम्मीद है कि पाकिस्तान मसौदा समझौते के साथ कुछ लचीलापन दिखाएगा, ताकि यह तय हो सके कि गुरुनानक की 550वीं जयंती के मौके पर गलियारा नवंबर में खोला जाए।”

अंतिम दौर की वार्ता में पाकिस्तान ने तीर्थयात्रियों पर 20 अमेरिकी डॉलर यानी करीब 1420 रुपये का शुल्क लगाने की शर्त रखी थी। इस पर भारत ने आपत्ति जताते हुए उसे अस्वीकार कर दिया था। साथ ही पाकिस्तान के इस कदम को अमान्य रवैया बताया था।

मुख्य बात यह है कि वे सहमत थे कि प्रत्येक दिन 5000 तीर्थयात्रियों को गलियारे में बिना वीजा के जाने की मंजूरी दी जाएगी। वह गलियारा तीर्थ यात्रियों को करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब तक पहुँचा देगा।