समाचार
कर्नाटक राजनीतिक संकट- एक और विधायक का इस्तीफा, भाजपा को दिया समर्थन

कर्नाटक में राजनीतिक उथल-पुथरल जारी है। सोमवार को निर्दलीय विधायक और मंत्री नागेश ने अपना पद छोड़ दिया। उन्होंने कहा, “वह भाजपा का समर्थन करने के लिए तैयार हैं।”

इंडिया टुडे  की रिपोर्ट के अनुसार, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने 13 कांग्रेस-जद (एस) विधायकों के इस्तीफे के बाद राज्य में चल रहे सरकार गिरने के संकट के बीच कांग्रेस के विधायक रामलिंगा रेड्डी से मुलाकात की। रामलिंगा ने 13 महीने पुरानी गठबंधन सरकार को खत्म करने की धमकी दी है।

कांग्रेस के नौ विधायक और तीन जद (एस) के विधायकों के इस्तीफे ने राज्य को राजनीतिक संकट में डाल दिया है। दोनों दलों के नेताओं ने सरकार बचाने को लेकर दिनभर चर्चा की। उप-मुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने नाश्ते पर कांग्रेस मंत्रियों की एक बैठक बुलाई और सरकार को स्थिर करने का काम किया।

उप-मुख्यमंत्री जी परमेश्वर ने कहा, “अभी तक नेतृत्व परिवर्तन पर चर्चा नहीं हुई थी। अब असंतुष्ट विधायकों के साथ प्राथमिकता बताने को लेकर बात हो रही है।” रविवार को अमेरिका से लौटे कुमारस्वामी साथी नेताओं के साथ इस्तीफा देने वाले नेताओं को मनाने में लगे लेकिन उन्होंने मुंबई में डेरा डालकर इस्तीफा वापस करने से मना कर दिया।

कांग्रेसी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को मुख्यमंत्री बनाकर सरकार बचाने की खबरें चल रही थीं लेकिन उन्होंने इसे खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, “मैं चाहता हूं कि गठबंधन की सरकार बनी रहे।”

भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख बीएस येदियुरप्पा ने कहा, “पार्टी घटनाक्रम देख रही है और सरकार बनाने की संभावना को खारिज नहीं करती है।” उन्होंने मध्यावधि चुनाव की आशंकाओं को खारिज कर कहा, “हम ऐसा नहीं होने देंगे।”

उन्होंने कहा, “कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन राज्य को अच्छा प्रशासन दे। अगर वे ऐसा नहीं कर सकते हैं तो हम 105 विधायकों के साथ हैं। फिलहाल हम पूरा घटनाक्रम देखेंगे। अभी न तो राज्यपाल से मिलेंगे और न दिल्ली जाएँगे। “