समाचार
कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष ने तीन बागी विधायकों को किया अयोग्य घोषित, 112 बहुमत

कर्नाटक में चल रही राजनीतिक अनिश्चितता के साथ राज्य विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार ने कांग्रेस के तीन बागी विधायकों को दलबदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य घोषित कर दिया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, विधानसभा अध्यक्ष द्वारा अयोग्य घोषित किए जाने के बाद तीनों विधायक आर शंकर, रमेश जारकीहोली और महेश कुमाथल्ली 2023 में वर्तमान विधानसभा सत्र के अंत तक चुनाव नहीं लड़ सकते हैं।

विधानसभा अध्यक्ष ने प्रेसवार्ता में विधायकों को अयोग्य घोषित करने का फैसला सुनाया। उन्होंने कहा, “मैंने इस्तीफे की जाँच की है। इसमें पाया कि वे स्वभाव से स्वैच्छिक नहीं हैं इसलिए सदन में बाकी कार्यकाल के लिए उन्हें दंडित किया जाता है। तीन अयोग्य विधायक विधानसभा के कार्यकाल तक चुनाव नहीं लड़ सकते हैं।”

इससे पहले, मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को सदन में बहुमत साबित न कर पाने के बाद इस्तीफा देना पड़ा था। उनके 17 विद्रोही कांग्रेस-जद (एस) विधायकों ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था।

विधानसभा अध्यक्ष के विधायकों को अयोग्य घोषित करने के फैसले ने कर्नाटक में राजनीतिक अनिश्चितता को बढ़ावा दिया है क्योंकि विधानसभा की संख्या अब 222 हो गई है, जिसके लिए सदन में 112 बहुमत लाने हैं। भाजपा के पास वर्तमान में 105 सीटें हैं, जिसमें अब भी सात विधायकों की कमी है।

वहीं, अन्य 14 बागी विधायकों के भाग्य का फैसला अभी नहीं हो सका है क्योंकि इस्तीफों पर फैसला अब भी विधानसभा अध्यक्ष के पास ही है। सूत्रों के अनुसार, तीन अयोग्य घोषित किए गए विधायकों के विधानसभा अध्यक्ष के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की आशंका है।