समाचार
रवि शास्त्री बने रहेंगे टीम इंडिया के कोच, कपिल की अगुआई वाली सीएसी ने लिया निर्णय

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ही बने रहेंगे। उनका नया अनुबंध अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्वकप तक बढ़ा दिया गया है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा गठित तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) में शामिल कपिल देव, अंशुमान गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी ने कम से कम चार अन्य दावेदारों के साक्षात्कार लेने के बाद यह निर्णय लिया।

अंशुमन गायकवाड़ ने कहा, “रवि शास्त्री को इसलिए चुना गया क्योंकि वह व्यवस्था से अच्छी तरह वाकिफ थे और टीम को बेहतर ढंग से जानते थे।” उन्होंने रवि शास्त्री के टीम से बेहतर तालमेल बनाए रखने के कौशल की तारीफ की। सीएसी ने कोच की चयन प्रक्रिया के लिए 5 उम्मीदवारों का साक्षात्कार लिया, जिन्होंने आवेदन किया था। सीएसी के सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से शास्त्री की सेवाओं को बरकरार रखने का निर्णय लिया।

कपिल देव ने कहा, “हमने रवि को 100 में से 100 अंक दिए। कोच के अन्य दावेदारों में बहुत कम संख्या का अंतर था, जिसने हमें आश्चर्यचकित किया। हेसन और मूडी बहुत अच्छे थे।” न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन और श्रीलंका व सनराइजर्स हैदराबाद के कोच टॉम मूडी क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। कपिल की अगुआई वाली सीएसी का गठन सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण के पिछले पैनल के बाद किया गया।

रवि शास्त्री 2017 में चैंपियंस ट्रॉफी की समाप्ति के बाद से ही सबकी पसंद बने हैं। उन्हें भारत के कप्तान विराट कोहली का मजबूत समर्थन मिला है। शास्त्री के पिछले कार्यकाल में कई बार टीम इंडिया टेस्ट और एकदिवसीय मैचों में शीर्ष पर पहुँची थी। उनके कार्यकाल में भारत विश्वकप के सेमीफाइनल में पहुँचा था। शास्त्री के ही प्रशिक्षण में भारत ने टेस्ट इतिहास में पहली बार ऑस्ट्रेलिया में कंगारुओं को हराया था।