समाचार
कमलेश तिवारी हत्याकांड के दो मुख्य आरोपी गुजरात-राजस्थान सीमा से गिरफ्तार
आईएएनएस - 23rd October 2019

पूर्व हिंदू महासभा नेता कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में गुजरात एटीएस को बड़ी सफलता मिली है। उसने मंगलवार को कहा, “हत्याकांड के दोनों मुख्य आरोपियों को गुजरात-राजस्थान बॉर्डर के पास शामलाजी से गिरफ्तार कर लिया गया है।”

गुजरात पुलिस के अनुसार, एटीएस ने दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया। उनकी पहचान अशफाकहुसैन ज़ाकिरहुसैन शेख (34 वर्ष) और मोइनुद्दीन खुर्शीद पठान (27 वर्ष) के रूप में की गई है। दोनों सूरत के रहने वाले हैं। एटीएस ने बताया, “दोनों उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर से नेपाल पहुँचने के बाद गुजरात के रास्ते पर थे।”

एटीएस अधिकारियों ने कहा, “शेख ने एक चिकित्सा प्रतिनिधि के रूप में काम किया, जबकि पठान फूड डिलीवरी का काम करता था। शुरुआती जाँच से पता चलता है कि उन्होंने तिवारी के कथित बयानों के प्रतिशोध में घटना को अंजाम दिया था।”

सोमवार को उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन दो हमलावरों की पहचान की, जो लखनऊ में घटना को अंजाम देने से एक दिन पहले ही पास के होटल में आकर रुके थे। यूपी पुलिस के मुताबिक, उन्होंने 18 अक्टूबर को कमलेश तिवारी की हत्या करने के एक घंटे बाद होटल छोड़ दिया था। होटल के कमरे से उनके खून से लथपथ भगवा कुर्ते, हत्या में प्रयुक्त चाकू और अन्य निजी चीजें मिली थीं।

डीआईजी हिमांशु शुक्ला के नेतृत्व में गुजरात एटीएस की टीम ने कहा, “दोनों आरोपियों को उनके परिवार के सदस्यों, परिचितों पर नजर रखने के बाद तकनीक और कड़ी निगरानी की मदद से गिरफ्तार किया गया। ”

एटीएस ने कहा, “दोनों ने अपने परिवार के सदस्यों और परिचितों से धन के लिए संपर्क किया था। गुजरात पुलिस के मुताबिक, आरोपियों को यूपी पुलिस को सौंप दिया जाएगा। यूपी के अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने भी दो संदिग्धों की गिरफ्तारी की पुष्टि की। उन्होंने कहा, “उन्हें बुधवार को लखनऊ लाया जाएगा।”