समाचार
मध्य प्रदेश में भाजपा का दावा ‘कमल नाथ सरकार अल्पसंख्या में’, राज्यपाल को पत्र

मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर विशेष विधान सभा सत्र बुलाने की मांग की गई है। इस घटना से शुरु हुए रोचक राजनीतिक घटनाक्रम में भाजपा का दावा है कि कमल नाथ की कांग्रेस सरकार अब अल्पसंख्या में हो गई है, न्यू इंडियन एक्सप्रेस  ने रिपोर्ट किया।

यह घटना लोकसभा चुनावों के एक्ज़िट पोल के एक दिन बाद हुई है जहाँ एनडीए को बहुमत प्राप्त होने की बात कही गई है। यहाँ तक कि कुछ पोलों में नरेंद्र मोदी के नेत-त्व वाली एनडीए को 368 सीटें मिलने तक का अनुमान लगाया गया है।

पिछले वर्ष हुए मध्य प्रदेश विधान सभा चुनावों में कांग्रेस ने 113 सीटें जीती थीं, वहीं भाजपा 109 सीटों के साथ द्वितीय स्थान पर आई थी। इसके फलस्वरूप कांग्रेस ने दो बसपा, एक सपा और चार निर्दलीय विधायकों के सहयोग से राज्य में सरकार बनाई थी।

यदि सपा-बसपा विधायक सहयोग वापस ले लेते हैं तो मध्य प्रदेश में कमल नाथ की सरकार गिर सकती है।