समाचार
काबुल- गुरुद्वारे पर आत्मघाती हमले में 11 श्रद्धालुओं की मौत और 16 घायल, 40 फंसे

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में आतंकियों ने बुधवार को एक गुरुद्वारे को निशाना बनाया। इस आत्मघाती हमले में 11 श्रद्धालुओं की मौत हो गई। इसकी जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ली है। अब भी 40 से अधिक श्रद्धालु वहाँ फंसे हुए हैं। अफगानिस्तान सरकार ने हमले की पुष्टि कर दी है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, आतंकी हमला सुबह 7.30 बजे हुआ, तब गुरुद्वारे में सिख समुदाए के सैकड़ों लोग प्रार्थना कर रहे थे। हमले के बाद सुरक्षाबलों ने गुरुद्वारे को घेर कर जवाबी कार्रवाई की। 16 से अधिक घायलों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

कानूनविद नरिंद्र सिंह खालसा ने बताया, “मेरे पास गुरुद्वारे से फोन आया था। फोन करने वाले ने पूछा था कि गुरुद्वारे में 150 से अधिक लोग मौजूद हैं।” आतंकी गुट तालिबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने ट्वीट किया, “इस हमले में हमारे संगठन का कोई लेना-देना नहीं है।”

भारत ने भी काबुल में हुए हमले की निंदा की है। विदेश मंत्रालय ने कहा, “कोरोनावायरस की महामारी के वक्त में अल्पसंख्यक समुदाय के धार्मिक स्थानों पर इस तरह के कायरतापूर्ण हमले, अपराधियों और उनके आकाओं की शैतानी मानसिकता को दिखाते हैं।”