समाचार
वैक्सीन के दुष्प्रभाव के कारण जॉनसन एंड जॉनसन ने अस्थाई रूप से रोका परीक्षण

प्रमुख फार्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने सोमवार (12 अक्टूबर) को कहा कि वह अपने कोविड-19 वैक्सीन के परीक्षण को अस्थाई रूप से रोक रही है क्योंकि उसके एक अध्ययन प्रतिभागी में अस्पष्ट बीमारी के लक्षण नज़र आए हैं।

कंपनी ने कहा, “वैक्सीन के परीक्षण को पुनः शुरू करने के बारे में निर्णय चिकित्सा जानकारी की सावधानीपूर्वक समीक्षा के बाद लिया जाएगा।”

जॉनसन एंड जॉनसन ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, “हमने अपने कोविड-19 वैक्सीन के नैदानिक परीक्षण के लिए प्रतिभागियों को दी जाने वाली आगे की खुराक फिलहाल रोक दी है। इसमें तीसरे चरण का परीक्षण भी शामिल है। शोध के दौरान एक प्रतिभागी के बीमार होने की वजह से यह कदम उठाया गया है।”

कंपनी ने कहा, “हमारे दिशा-निर्देशों के बाद प्रतिभागी की बीमारी की समीक्षा की जा रही है। इसका मूल्याँकन इनसेंबल स्वतंत्र डेटा सुरक्षा निगरानी बोर्ड (डीएसएमबी) के साथ हमारे आंतरिक नैदानिक ​​और सुरक्षा चिकित्सकों द्वारा किया जा रहा है।”

आगे कहा गया कि प्रतिकूल घटनाओं- बीमारियों, दुर्घटनाओं आदि – यहाँ तक ​​कि जो गंभीर हैं, किसी भी नैदानिक ​​अध्ययन, विशेष रूप से बड़े अध्ययनों का एक अपेक्षित हिस्सा हैं।

यह गौर किया जाना चाहिए कि इससे पूर्व, सितंबर में ब्रिटिश-स्वीडिश फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने भी एक गंभीर प्रतिकूल घटना के बाद अपने कोविड-19 वैक्सीन उम्मीदवार के नैदानिक ​​परीक्षणों को रोक दिया था। हालाँकि, बाद में परीक्षणों को पुनः शुरू किया गया था, जब यूनाइटेड किंगडम के मेडिसिंस हेल्थ रेगुलेटरी अथॉरिटी (एमएचआरए) ने पुष्टि की कि ऐसा करना सुरक्षित था।