समाचार
अयोध्या- जेएनयू में छात्रों के एक गुट ने किया विरोध प्रदर्शन तो एबीवीपी ने जलाए दीप

अयोध्या मामले में शनिवार को राम मंदिर के पक्ष में फैसला आने के बाद दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में पढ़ने वाले छात्रों के एक धड़े में नाराज़गी है। उन्हें सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय पसंद नहीं आया। उन्होंने विश्वविद्यालय परिसर में विरोध प्रदर्शन किया। उधर, एबीवीपी ने दीप जलाकर अदालत के निर्णय का स्वागत किया। हालाँकि, अभी तक किसी तरह के हंगामे की खबर नहीं है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, छात्रों के एक धड़े के विरोध प्रदर्शन के बाद मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के छात्र भी पहुँच गए। उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए परिसर में दीप जलाए। स्टूडेंट्स ने मंदिर वहीं बनाएँगे’ के नारे भी लगाए।

विश्वविद्यालय में बने साबरमती ढाबा के पास अदालत के निर्णय से आहत छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों का कहना था, “हमारे पास सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय की कॉपी है। निर्णय पढ़ने के बाद हम हैरान हैं कि न्यायपालिका ने हमें कई पहलुओं पर गलत साबित किया है। छात्रों ने इसको लेकर एक सभा भी आयोजित की।”

बता दें कि शनिवार सुबह मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 जजो की बेंच ने अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भगवान राम के लिए एक भव्य मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करते हुए सर्वसम्मति से अपना फैसला दिया था।

विरोध कर रहे एक छात्र ने बताया, “आरएसएस और हिंदुत्व विचारधारा से जुड़े छात्र संगठन एबीवीपी ने ‘जय श्री राम, जय श्री राम’ के नारे लगाकर हमें उकसाने की कोशिश की लेकिन हमने किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं दी।