समाचार
जेएनयू प्रशासन ने किया उच्च न्यायालय का रुख, छात्रों और पुलिस पर कार्रवाई की मांग

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) प्रशासन ने मंगलवार (19 नवंबर) को दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख करते हुए याचिका दायर की। इसमें विश्वविद्यालय के कई छात्र, छात्रसंघ नेताओं और दिल्ली पुलिस के खिलाफ अवमानना ​​की कार्रवाई की मांग की गई।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस, प्रदर्शनकारी छात्रों और जेएनयू नेताओं की वजह से उच्च न्यायालय के पहले के फैसले का उल्लंघन हुआ है। दरअसल, अगस्त 2017 में न्यायालय ने विश्वविद्यालय के प्रशासनिक ब्लॉक के 100 मीटर के दायरे में प्रदर्शन प्रतिबंधित कर दिया था।

जेएनयू प्रशासन ने उच्च न्यायालय में दायर अपनी याचिका में जोर देते हुए कहा, “28 अक्टूबर से प्रशासन की दिन-प्रतिदिन की कार्यप्रणाली में बाधा आई, जब फीस वृद्धि को लेकर विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था।” याचिका में कहा गया कि विश्वविद्यालय में कानून-व्यवस्था कायम रखने से इनकार करने और प्रशासनिक भवन के आसपास अवरोधकों को हटाकर दिल्ली पुलिस ने भी न्यायालय के आदेश की अवमानना की है।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि जेएनयू प्रशासन द्वारा दायर की गई याचिका उस समय आई है, जब जेएनयू के छात्रों ने सोमवार (18 नवंबर) को संसद के सामने विरोध मार्च निकाला था। इस दौरान उन्हें सुरक्षा बलों ने रोका और उनमें से करीब 100 छात्रों को हिरासत में लिया गया था।