समाचार
अलगाववादी संगठनों पर केंद्र के सख्त तेवर, जेकेएलएफ पर लगा प्रतिबंध

केंद्र ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक के नेतृत्व वाले संगठन जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) पर शुक्रवार (22 मार्च) को आतंकवाद विरोधी क़ानून के तहत  प्रतिबंध लगा दिया है। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी गतिविधियों को कथित तौर पर बढ़ावा देने के लिए संगठन पर प्रतिबंध लगाया गया है, अमर उजाला  ने रिपोर्ट किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा पर हुई एक उच्च-स्तरीय बैठक में जेकेएलएफ पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत प्रतिबंध लगाया गया है। केंद्र का मानना है कि आतंकवादी संगठनों के साथ जेकेएलएफ के नज़दीकी संबंध हैं, टाइम्स ऑफ इंडिया  ने रिपोर्ट किया।

केंद्रीय गृह सचिव राजीव गाबा ने कहा कि ” जेकेएलएफ  जम्मू-कश्मीर में  अलगाववादी गतिविधियों में सबसे आगे रहती है और 1989 में कश्मीरी पंडितों को मारने और उह्नें घाटी से बाहर निकालने में भी यह संगठन शामिल था”।

साथ ही गृह सचिव ने कहा कि केंद्र सरकार निरंतर रूप से ऐसे संगठनों की गतिविधियों को रोकने पर काम कर रही है जो देश के लिए खतरा हैं और जिन्हें आतंकवादी संगठनों का समर्थन प्राप्त है।