समाचार
केंद्र की योजनाएँ बताने श्रीनगर पहुँचे मुख्तार अब्बास, गिनाई ‘हिमायत’ की विशेषता
आईएएनएस - 22nd January 2020

जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार की योजनाओं की जानकारी देने वाले कार्यक्रम को शुरू करते हुए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मंगलवार (21 जनवरी) को श्रीनगर का दौरा किया। द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के अपने फैसले के बाद यहाँ के लोगों तक पहुँचना शुरू कर दिया है।

मुख्तार अब्बास नकवी ने श्रीनगर और उसके आसपास के कई क्षेत्रों का दौरा किया और कुछ विकास परियोजनाओं में भाग लिया। उन्होंने जानकारी दी, “हिमायत कार्यक्रम के तहत जम्मू-कश्मीर के लिए 16 करोड़ रुपये दिए गए और 12,000 युवाओं को प्रशिक्षित किया गया। सांबा और अवंतीपोरा में एम्स की स्थापना की जा रही है।”

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री ने हरवन रीजन के दारा में 300 से अधिक लोगों की एक सभा को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर के लिए केंद्र सरकार के दृष्टिकोण को साझा किया। उन्होंने कहा, “यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूरदृष्टि है कि जम्मू-कश्मीर भी देश के विकास के रास्ते पर चले। यहाँ भ्रष्टाचार का दीमक लगा था। लोगों ने अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए इस स्वर्ग को खत्म कर दिया था। दशकों से स्थानीय लोगों की आकांक्षाओं को अनदेखा किया गया। अब केंद्र सरकार यहाँ जमीन पर सकारात्मक और प्रभावी बदलाव लाएगी।”

स्थानीय लोगों से जुड़ने के लिए बड़े पैमाने पर मुसलमानों से मिलकर मुख्तार अब्बास नकवी ने हज कोटे में वृद्धि का भरोसा दिया। उन्होंने कहा, “हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हाजियों के लिए सारी सुविधाएँ उपलब्ध हों।”

अपने दौरे के दौरान उन्होंने कई बुनियादी परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इसमें मालरो में झेलम नदी पर 16.53 करोड़ रुपये की लागत से बना पुल और दारा में 97.01 लाख रुपये की लागत से एक हाई स्कूल भवन शामिल है।